टाटा की Air India एक्सप्रेस: एक साथ छुट्टी पर गए 25 कर्मचारियों को किया गया बर्खास्त

Tata Group की विमानन कंपनी एअर इंडिया एक्सप्रेस ने एक साथ सिक लीव पर जाने वाले करीब 25 कर्मचारियों को कड़ी कार्रवाई करते हुए नौकरी से निकाल दिया है। इन कर्मचारियों के अचानक छुट्टी पर जाने से कंपनी की 76 उड़ानें प्रभावित हुई हैं।

कर्मचारियों का खराब व्यवहार बना कारण:

एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार, एअर इंडिया एक्सप्रेस ने केबिन क्रू के करीब 25 सदस्यों को खराब व्यवहार और यात्रियों को होने वाली परेशानी के चलते नौकरी से निकाल दिया है।

मास सिक लीव ने बिगाड़ा खेल:

खबरों के मुताबिक, एअर इंडिया एक्सप्रेस के लगभग 300 कर्मचारी 8 मई को बिना सूचना के सिक लीव पर चले गए। इसे मास सिक लीव कहा जाता है। इन कर्मचारियों ने अपने फोन बंद कर लिए थे और काम पर भी नहीं आए।

इन उड़ानों पर पड़ा असर:T

इस मास सिक लीव के चलते एअर इंडिया एक्सप्रेस की 76 उड़ानें प्रभावित हुई हैं। इनमें से कई उड़ानें रद्द कर दी गई हैं, जबकि कई में देरी हो रही है। इसका खामियाजा यात्रियों को भुगतना पड़ रहा है।

टाटा समूह दे रहा समाधान:

टाटा समूह अपनी अन्य विमानन कंपनियों विस्तारा और एयर इंडिया की मदद से इस संकट को कम करने का प्रयास कर रहा है।

कर्मचारियों को चेतावनी:

एअर इंडिया एक्सप्रेस के मैनेजिंग डाइरेक्टर आलोक सिंह ने कर्मचारियों को संबोधित करते हुए एक पत्र लिखा है। उन्होंने पत्र में कहा है कि 100 से ज्यादा कर्मचारियों ने अचानक छुट्टी ली, जिससे 90 से ज्यादा उड़ानें प्रभावित हुई हैं। उन्होंने आने वाले दिनों में भी असर की संभावना जताई है।

विमानन कंपनियों के लिए चुनौती:

यह घटना विमानन कंपनियों के लिए एक बड़ी चुनौती है। मास सिक लीव जैसी घटनाएं न केवल यात्रियों को परेशानी पैदा करती हैं, बल्कि कंपनी की प्रतिष्ठा पर भी बुरा असर डालती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *