चावल निर्यात पर से बैन हटाने की तैयारी, मानसून की अच्छी बारिश का अनुमान!

केंद्र सरकार जल्द ही चावल के निर्यात पर से बैन हटा सकती हैसरकार के पास पर्याप्त मात्रा में चावल का स्टॉक है और अच्छे मानसून की उम्मीद के बीच बुवाई के भी बढ़ने की पूरी संभावना है।

पिछले साल सरकार ने लगाया था बैन

इसके चलते अगले महीने तक सरकार चावल निर्यात पर से बैन हटाने की तैयारी कर रही है। पिछले साल चावल की कीमतें बढ़ने की आशंका के चलते सरकार ने निर्यात पर बैन लगाया थाअच्छी बुवाई होने पर हटाया जा सकता है बैन

एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार, अगर खरीफ सीजन में बुवाई अच्छी होती है तो प्रतिबंध हटाने पर विचार किया जा सकता हैहालांकि, यह फैसला मानसून पर भी निर्भर करेगा।

चावल की बुवाई होगी  शुरू

मौसम विभाग द्वारा उम्मीद जताई जा रही है कि अगले महीने मानसून केरल पहुंच जाएगाइसके साथ ही चावल की बुवाई शुरू हो जाएगीजून और जुलाई में बारिश का दौर जारी रहने के साथ ही चावल की बुवाई भी बढ़ती रहेगी

उन्होंने बताया कि फिलहाल सरकार के पास चावल का अच्छा स्टॉक हैमौसम विभाग ने अच्छी बारिश की उम्मीद जताई पिछले महीने ही मौसम विभाग ने अनुमान लगाया था कि इस साल जून से सितंबर तक नॉर्मल से ज्यादा बारिश हो सकती है

मौसम विभाग को 90 फीसदी उम्मीद है कि भारत में इस साल नॉर्मल से अधिक की रेंज में बारिश होगी। पिछले साल कम बारिश के चलते चावल की बुवाई प्रभावित हुई थी।

12 फीसदी से ज्यादा का उछाल

इस साल मार्च में चावल की कीमतों में 12 फीसदी से ज्यादा का उछाल आया थाहालांकि, अगले कुछ महीनों में कीमतें घटने लगेंगीमहंगाई भी नियंत्रण में रहने की उम्मीद है

ऐसे में अनुकूल माहौल बनने पर चावल निर्यात पर से प्रतिबंध घटाया जा सकता हैएफसीआई के भंडार से हो रही भारत राइस की बिक्री फूड कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (FCI) के पास चावल का पर्याप्त भंडार है।

नाफेड, एनसीसीएफ और केंद्रीय भंडार भी भारत राइस (Bharat Rice) बेचने के लिए एफसीआई से खरीद कर रहे हैं। भारत राइस को 29 रुपये प्रति किलो के हिसाब से बेचा जा रहा है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *